घर तो घर ,अब मंदिरो को भी नहीं छोड़ रहे है चोर

फ्रेश बुलेटिन ,पूर्वी सिंघभूम

मंदिर वो स्थान होता है जहाँ इंसान तब पहुँचता है जब उसे किसी और का सहारा नहीं होता। जब इंसान को कोई उम्मीद नजर नहीं आती तब हम भगवान के पास जाते है। लेकिन क्या हो जब इंसान ऐसे पवित्र स्थानों पर भी इंसानियत भूल जाए। घरों में चोरियां होने कि खबर हम अक्सर अखबारों में पढ़ते है या टीवी चैनलों पर देखते है। लेकिन चोर अब से भी चोरियां करने लगे है। हालांकि मंदिरो में चोरियां करना भी अब अपराधियों के लिए आम बात हो गयी है।

क्या है मामला
पूर्वी सिंघभूम के बरसोल गांव में माता रंकिणी के मंदिर से उनके मुकुट चोर ने माता का मुकुट और कुछ श्रृंगार का सामन भी चुरा लिया है । जानकारी के मुताबिक माता का मुकुट चांदी का था। बताया जा रहा है कि चोर मंदिर का ताला तोड़ कर अंदर भगवान के कक्ष में घुसे और चुरा ले गए चांदी का मुकुट। पुजारी का कहना है की 20 चांदी के सापों की भी चोरी हुई है। पुलिस ने इस मामले की छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस ने आसपास के लोगो से पूछ ताछ भी किया।

100 साल पुराण है रंकिणी माता का मंदिर
स्थानीय लोगो ने कहा कि यह मंदिर 100 साल पुराना है लेकिन आज तक यहाँ इस तहर की घटना नहीं घटी है। पुजारी ने बताया ऐसा पहली बार हुआ है जब मंदिर का टाला टूटा हो। इस मंदिर में पहली बार चोरी हुई है। पुजारी के अनुसार कुछ पीतल के सामने की भी चोरी हुई है। पुलिस जल्द से जल्द चोर को पकड़ेगी।

भाजयुमो नेता जयदीप आईच ने ट्वीट करके झारखंड के कार्यकारी पुलिस महानिदेशक एमवी राव को इस बात की जानकारी दी और कहा की जल्द से जल्द इस घटना को गंभीरता से लिया जाए। इस मामले को संज्ञान में लेते हुए झारखण्ड पुलिस ने जमशेदपुर पुलिस को निर्देश दिया है। जमशेदपुर पुलिस ने भी इस मामले का संज्ञान लेते हुए बरसोल पुलिस को चोर को जल्द से जल्द पकड़ने का निर्देश दिया है

Leave a Reply

Your email address will not be published.