जम्मू काश्मीर मे तैनात प•चम्पारण का जवान हुआ शहीद.

by- sachin kachhap

शहीद का शव आते ही भारत माता की जय से पूरा गाव गूंजने लगा । गौनाहा प्रखण्ड ने महुई पँचायत  के बलुआ गांव के शंकर महतो का पुत्र 33 वर्षीय आर्मी पुत्र दिवाकर महतो देश के लिए शहीद  हो गये। 

शाहिद  दिवाकर महतो का आर्मी भाई ज्ञानचंद महतो ने बताया कि मेरा भाई जम्भू कश्मीर में पोस्टेड था। 14 अप्रैल को वह भारतीय सीमा पर तैनात था। इसी क्रम में मेरे भाई को दुश्मन की गोली लग गई और वह सदा के लिए शहीद हो गया। उन्होंने बताया कि वह अपने पीछे पत्नी फूल कुमारी देवी और एक दो माह का पुत्र दर्शन कुमार  को छोड़ गया है। उन्होंने बताया कि हम तीन भाई थे , शाहिद दिवाकर महतो और मैं आर्मी में थे , जो  देश के लिए शहीद हो गया  और  एक भाई रजनीश महतो सी ० आई० एस ० एफ ०में कार्यरत है। उन्होंने बताया कि अभी माता पिता भी हैं। वही शहिद की पत्नी फूलकुमारी देवी में रोते – रोते बताया कि मेरे पति देश के लिए अपने प्राण की आहुति दी हैं इसके लिए मुझे गर्व है । वही माता बसन्ती देवी और पिता ने बताया कि मेरे दो बेटे सेना में आर्मी में थे जिसमें एक शहीद हो गया ,लेकिन हमलोग गर्व महशुस कर रहे हैं।उन्होंने बेटा के पार्थिव शरीर को लेकर आए सेना के पदाधिकारियों और जवानों को धन्यवाद देते हुए बताए कि आप लोग मेरे शाहिद बेटे के पार्थिव शरीर को घर तक पहुंचाकर बहुत बड़े एहसान किए हैं। वही मौके पर समाज सेवी चरित्र साह सहीत कई गणमान्य लोग रहे और शाहिद दिवाकर महतो के पार्थिव शरीर पर पुष्प मलाऐं चढ़ाकर सलामी दिए ।

ट्रेंडिंग न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published.