टाटानगर में यार्ड में खड़ी ट्रेन में हुई चोरी का खुलासा, चार लोग हुए गिरफ्तार

,जमशेदपुर

टाटानगर स्टेशन में यार्ड ने खड़ी ट्रेन में चोरी का मामला प्रकाश में आया है। चोरी हुई केबुल को बुधवार को आरपीएफ कांड्रा की विशेष टीम ने बरामद किया। इस मामले में आरपीएफ कांड्रा की विशेष टीम ने 24 घंटे के अंदर छापामारी कर कीताडीह से मुख्य सरगना सुरज सेन, बागबेड़ा गुदड़ी मार्केट स्थित स्क्रैप टाल मालिक उपेंद्र पोद्दार, विष्णु सिंह आनंदनगर बागबेड़ा व राजा गगराई गांधीनगर बागबाड़ा कुल चार को दबोचा।

कोरोना के कारण कई महीनो से खड़ी थी ट्रेन

चुँकि कोविड के कारण ट्रेन कई महीनो से यार्ड में खड़ी थी। जिसकी वजह से चोरो ने गुड्स ट्रैन से केबुल और ट्रांसफार्मर की चोरी को हो गयी है। इस बात का पता कोलकाता पहुंचने के बाद हुई। इस मामले में मर्शिग यार्ड खड़गपुर आरपीएफ थाना में अज्ञात चोर के विरुद्ध केबुल व अन्य चोरी होने का मामला दर्ज किया गया था। यह घटना टाटानगर कि है इसलिए इस टाटानगर आरपीएफ में ट्रांसफर किया गया।छापेमारी की नेतृत्व कांड्रा आरपीएफ थाना प्रभारी आरबी सिंह, एएसआइ रंजीत कुमार, सुंदर सिंह, अभय कुमार, रमेश तिवारी, अटल कुमार शामिल थे। मुख्य सरगना समेत चारों को टाटा आरपीएफ टीम के सौंपा।

ट्रेन के निचे का लोहा काट कर हुई थी चोरी
दुर्गा पूजा से पहले ही केबुल की चोरी हुई थी। बातचीत के बाद पता चला कि चोरो ने ट्रेन के निचे का लोहा काट कर चोरी किया था। आरपीएफ टीम के मुताबिक सुरज सेन समेत पकड़े गये चारों लोगों से पूछताछ में रेलवे व दूसरे क्षेत्र में हुए अन्य आपराधिक घटनाओं का खुलासा हो सकेगा। टाटानगर स्टेशन यार्ड से खड़ी ट्रेन बोगियों से 55 नग बैटरी की चोरी हुई थी। हालांकि सरायकेला और बर्मामाइंस लाल बाबा ट्यूब स्क्रैप टॉल में छापामारी करने से 58 नग बैटरी बरामद हुई थी। इससे और भी ट्रेनों में चोरी होने की पुष्टि हुई थी। यह खुलासा भी आपीएफ कांड्रा की टीम ने किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.