देश में मौसम की अतरंगियाँ , कहीं सर्दी, कहीं गर्मी तो कहीं बारिश

फ्रेश बुलेटिन राँची

देश में मौसम ने कई रंग ओढ़े हुए है, कही कड़ाके की सर्दी लोगों की परेशानियों का सबब बनी हुई है तो कही पारा कुछ डिग्री बढ़ने से राहत पहुंची है वहीं कुछ राज्यों में बारिश ने ठण्ड और सर्दी में इज़ाफा कर दिया है। हिमाचल प्रदेश और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद) अगले 24 घंटे के दौरान भी भारी बारिश या हिमपात होने का अनुमान है। पंजाब, दक्षिणी तटीय आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में भी अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश के आसार हैं। मंगलवार को कश्मीर में भारी बर्फबारी हुई तो राजस्थान में ओले गिरे। गुजरात और दक्षिण कर्नाटक के ज्यादातर स्थानों, पश्चिम बंगाल में गंगा के तटवर्ती क्षेत्र में तापमान सामान्य से 1.6 से 3.0 डिग्री ऊपर रहा।

राजस्थान समेत कई राज्यों में बारिश के साथ गिरे ओले
कड़ाके की सर्दी के बाद अब राजस्थान में बारिश-ओलों का दौर जारी है। लगातार पांचवें दिन जयपुर, चूरू, श्रीगंगानगर, अलवर समेत प्रदेश के कई इलाकों में बारिश और ओले गिरे। सुबह घना कोहरा रहा। सीकर जिले के श्रीमाधोपुर में 2 इंच, जयपुर के सांभर में पौने दो इंच बारिश हुई। हालांकि, बारिश के बाद भी पारे में 10 डिग्री तक उछाल आया। सबसे ज्यादा तापमान पिलानी में रहा। यहां रात का पारा 4 डिग्री से 14.1 डिग्री पहुंच गया। इसके अलावा सभी शहरों में रात का पारा 10 डिग्री से ज्यादा रिकॉर्ड हुआ।

झारखण्ड छत्तीसगढ़ में वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के वजह से ठण्ड से मिली थोड़ी रहत

सर्दी कम होने के बावजूद कोहरा अब भी बरकरार है। छत्तीसगढ़ के सबसे ठंडे जिले अंबिकापुर में दिन और रात का तापमान सामान्य से 5 डिग्री तक ऊपर चला गया है। साथ ही झारखण्ड में भी तापमान में कोई बड़ा बदलाव देखने को नहीं मिला है, दुपहर में धुप खिली रहती और शाम को थोड़ी ठण्ड बढ़ जाती जो की पिछले कुछ दिनों से सामन्य रहा है। उत्तर के बजाय दक्षिण-पूर्व से आ रही हवा में नमी ज्यादा है, इसलिए ठंड कम हुई है। ठंड के नाम पर इसी नमी की वजह से आउटर में सुबह और रात में हल्का कोहरा ही रह रहा है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, जब तक पश्चिम विक्षोभ का असर खत्म नहीं होता, ठंड नहीं बढ़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.