पहली बार पुरुष टेस्ट मैच की अंपायर बनी पोलोसाक ,रचा इतिहास

महिलाओ ने हर क्षेत्र में अपना लोहा मनवाया है, और अब क्रिकेट जगत में भी एक नयी पहल की शुरुआत हो गयी है। क्रिकेट के पूरे इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है की जब एक महिला ने पुरुष टेस्ट मैच में कमान संभाली हो। इस बड़े बदलाव की पहल गुरुवार को भारत ऑस्ट्रेलिआ के बीच चल रहे टेस्ट मैच से हुई।पुरुषों के टेस्ट मैच में पहली महिला मैच अधिकारी के तौर पर क्लेयर पोलोसाक ने मैदान में कदम रखा। ऑस्ट्रेलिया की 32 साल की पोलोसाक मैच में चौथे अंपायर की भूमिका में हैं। वह इससे पहले पुरुष वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला अंपायर बनने की उपलब्धि हासिल कर चुकी हैं।

घरेलू लिस्ट-ए मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला रह चुकी है
पोलोसाक इसके साथ ही ऑस्ट्रेलिया में 2017 में पुरुषों के घरेलू लिस्ट-ए मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला हैं। फोर्थ अंपायर का काम मैदान में नई गेंद लाना, अंपायरों के लिए ड्रिंक ले जाना, लंच और चाय के दौरान पिच की देखभाल और लाइटमीटर से रोशनी की जांच करने जैसी चीजें शामिल हैं। किसी परिस्थिति में मैदानी अंपायर के हटने के बाद तीसरे अंपायर को मैदान में सेवाएं देनी होती हैं, जबकि चौथे अंपायर को टेलीविजन अंपायर की भूमिका निभानी होती है।

ट्रेंडिंग न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published.