मानवता हुई शर्मशार,सीसीएल कर्मी कि लाश को गाडी के पीछे घसीटकर ले गया थाने

फ्रेश बुलेटिन रामगढ़

झारखण्ड पुलिस ने एक बार फिर मानवता को शर्मशार किया है। रामगढ़ जिले के मांडू थाना क्षेत्र अंतर्गत राजकीय मध्य विद्यालय के निकट एनएच 33 (4/6) लेन चौराहा पर सड़क दुर्घटना में एक सीसीएल कर्मी की मौत घटनास्थल पर हो गई। एम्बुलेंस नहीं उपलब्ध होने की वजह से पुलिस ने शव को स्ट्रेचर में बांधकर पुलिस गाडी से टोचन कर शव को लगभग डेढ़ किलोमीटर तक घसीटता हुआ मांडू थाना ले गया। ये घटना मंगलवार के रात की है।

क्या थी घटना

रामेश्वर राम अपने अपनी ड्यूटी खत्म करने के बाद बाइक से अपने दोस्त के साथ अपने घर लौट रहा था। इसी बीच विद्यालय के निकट चौराहा पार करने के क्रम में हजारीबाग से रामगढ़ की ओर जाने वाली ट्रक ने उनको अपने चपेट में ले लिया। ट्रक काफी तीव्र गति से आ रहा था। जिससे घटनास्थल पर ही रामेश्वर राम की मौत हो गयी।

मांडू सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पुलिस ने इल्जाम डाला
घटना की जानकारी मांडू पुलिस थाने को दी गयी जिसके बाद घटना स्थल पर पुलिस पहुंची और उंसने मांडू सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से एम्बुलेंस की मांग की लेकिन सीएचसी ने जब एम्बुलेंस नहीं दिया तो पुलिस ने शव को गाडी से बांधकर घसीटते हुए थाने पहुंचाया। पुलिस ने इसका ठीकरा मांडू सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर फोड़ा है। ऐसे में स्वास्थ्य केंद प्रभारी का कहना है कि जिला प्रसाशन ने सीएचसी को डेढ़ वर्ष पूर्व एम्बुलेंस मुहैया करवाया था। लइकन उसका फण्ड ,चालक व गाइडलाइन नहीं दिया है जिसकी वजह से सीएचसी एम्बुलेंस नहीं दे पायी।

एसडीपीओ अनुज उरांव ने कहा की इस तरह से शव को घसीटते हुए ले जाना अमानवीयता को दर्शाता है।

ट्रेंडिंग न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published.