राष्ट्र में होगी “गौ विज्ञान” की परीक्षा ,कामधेनु आयोग ने की घोषणा

द फ़ॉलोअप टीम, दिल्ली
आपको गायों के बारे में कितनी जानकारी है अब यह आप एक परीक्षा देकर जान सकते है। जी हाँ राष्ट्रीय कामधेनु आयोग ने ऐसी ही एक परीक्षा की घोषणा की है जिसका विषय है ‘गौ विज्ञान’ . मंगलवार को आयोग के अध्यक्ष वल्लभभाई कथीरिया ने इसकी जानकारी देते हुए कहा की यह परीक्षा 25 फरवरी को हिंदी और अंग्रेजी के साथ 12 स्थानीय भाषाओँ में ली जयेगी। आयोग का कहना है कि गाय केवल दूध देने वाली पशु ही नहीं है बल्कि, चार पैरों पर चलता-फिरता पूरा विज्ञान है। आयोग का दावा है कि केंद्र सरकार के 5 ट्रिनियल इकोनॉमिक के सपने को पूरा करने में गाय एक अहम रोल निभा सकती है साथ ही देश में पहली बार इस तरह की कोई परीक्षा होने जा रही है। अब से हर साल यह परीक्षा ली जाएगी।’

जन-जागरूगता है अहम उद्देश्य
वल्लभभाई कथीरिया ने कहा कि ‘युवा विद्यार्थियों और अन्य नागरिकों में गायों के बारे में जन-जागरूकता लाने के उद्देश्य से इस परीक्षा की शुरुआत की जा रही है। यह परीक्षा लोगों में गायों के प्रति जिज्ञासा पैदा करेगी। उन्हें गायों की उन क्षमताओं के बारे में बताएगी जिसके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते। लोग जान सकेंगे कि एक गाय अगर दूध देना बंद भी कर दे, तो भी व्यवसाय के कितने अवसर दे सकती है।’

कोन दे सकते है यह परीक्षा
आयोग ने बताया है कि इस गौ विज्ञान परीक्षा में प्राइमरी व सेकंडरी स्कूल स्टूडेंट्स, कॉलेज स्टूडेंट्स से लेकर आम लोग तक इस परीक्षा में भाग ले सकते हैं। इसके लिए कोई फीस नहीं देनी होगी। इस परीक्षा का नाम होगा – ‘कामधेनु गौ विज्ञान प्रचार प्रसार एग्जाम’

कैसा होगा इस परीक्षा का पैटर्न
परीक्षा में सिर्फ ऑब्जेक्टिव टाइप सवाल पूछे जाएंगे। पूरा सिलेबस राष्ट्रीय कामधेनु आयोग की वेबसाइट पर मिल जाएगा। साथ ही परीक्षा की तैयारी के लिए गौ विज्ञान पर स्टडी मैटीरियल भी भी आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.