होटल में क्वैरेंटाइन रखे जा सकते है इंडियन क्रिकेटर्स , नाराज़ प्लयेरों ने कहा यह जू में जानवरों को रखने जैसा बर्ताव हुआ।

फ्रेश बुलेटिन

भारत और ऑस्ट्रेलया की टीमें 4 टेस्ट की सीरीज का तीसरा मैच खेलने के लिए सोमवार को सिडनी के लिए रवाना हो गई हैं। यह मैच 7 जनवरी से होगा। इसके लिए सभी खिलाड़ियों का कोरोना टेस्ट किया गया। सभी की रिपोर्ट निगेटिव है। टीम को कोरोना प्रोटोकॉल के चलते सिडनी के होटल में क्वारैंटाइन रखा जा सकता है। ऐसे में भारतीय खिलाड़ियों ने अपनी नाराजगी जताई है। टीम इंडिया के सूत्रों के हवाले से क्रिकेट वेबसाइट क्रिकबज ने लिखा- यदि आप स्टेडियम में फैंस (करीब 20 हजार लोगों) को एंट्री देते हैं। उन्हें आजादी से जीने की अनुमति देते हैं और हमसे कहते हैं कि सीधे होटल जाओ और क्वारैंटाइन में रहो। खासकर तब जब हमारा कोरोना टेस्ट भी निगेटिव हो, तो यह जू में जानवरों को रखने जैसा बर्ताव है। हम नहीं चाहते, ऐसा हो। है कि उनके साथ ऑस्ट्रेलिया में अच्छा बर्ताव नहीं किया जा रहा। उन्होंने कहा- हमसे सिडनी में जो कहा जाएगा, वह नियम का पालन हम करेंगे। हम चाहते हैं कि हम भी हर ऑस्ट्रेलियन नागरिक की तरह ही हम भी नियमों का बराबरी से नियमों का पालन करें। इसलिए यदि दर्शकों को स्टेडियम में आने की अनुमति नहीं मिलती है, तभी कोई मतलब बनता है कि हमसे क्वारैंटाइन में रहने के लिए कहा जाए।

जारी किये गए है सख्त आदेश
सूत्रों ने खुलासा किया है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की मेडिकल टीम ने पिछले हफ्ते सख्त निर्देश दिए थे कि उन्हें होटल रूम से निकलने की अनुमति नहीं मिलेगी। खासकर सिडनी और ब्रिस्बेन टेस्ट के दौरान। भारतीय खिलाड़ियों ने उनकी यह बात स्वीकार भी कर ली थी। हालांकि टीम मैनेजमेंट ने तुरंत ही मेडिकल टीम से कह दिया था कि यह स्थिति उन्हें स्वीकार करने में मुश्किल होगी। इन सख्त नियमों के कारणवश भारतीय टीम ब्रिस्बेन में नहीं खेलना चाहती है, क्योंकि वहां खिलाड़ियों को ट्रेनिंग के अलावा बाहर जाने की इजाजत नहीं होगी। वहीं, क्वींसलैंड सरकार ने सख्त लहजे में हिदायत दी है कि अगर नियमों के हिसाब से चलना हो, तो ही टीम इंडिया ब्रिस्बेन में चौथा टेस्ट खेलने के लिए आए।

ट्रेंडिंग न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published.